Colors
 
कांग्रेस की भांति अपाहिज है उत्तराखंड सरकार : निशंक
By admin On 24 Aug, 2013 At 08:21 AM | Categorized As BJP, Story, Uttarakhand, Your News | With 0 Comments

कांग्रेस की भांति अपाहिज है उत्तराखंड सरकार : निशंक
ब्लेक लिस्टेड कंपनी को दिया जा रहा है शव उठाने का ठेका
देहरादून, 23अगस्त () पूर्व मुख्यमंत्री तथा भाजपा के वरिष्ठ नेता डा. रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा कि केन्æ सरकार की भांति उत्तराखंड की सरकार अपाहिज सरकार है। इसे सत्ता में रहने का कोर्इ हक नहीं है केन्æ सरकार को प्रदेश सरकार भंग कर राष्ट्रपति शासन लागू करना चाहिए। उन्होंने कहा कि सरकार आपदा में मारे गये लोगों को भी निकालने के लिए ब्लेकलिस्टेड कंपनी को ठेका दे रही है और इससे अधिक संवेदनहीनता कुछ नही हो सकती है। उन्होंने कहा कि सरकार आपदा पर श्वेत पत्र जारी करें। कैंट रोड सिथत आवास पर पत्रकार वार्ता के दौरान अटल खाधान्न योजना की नकल करने की योजना पर टिप्पणी करते हुए डां. निशंक ने कहा कि नकल के लिए भी अकल की जरूरत होती है। यह सरकार ऐसा भी नहीं कर पायी। पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि कांग्रेस द्वारा लायी गयी योजना खाध सुरक्षा नहीं बलिक सत्ता सुरक्षा है। उन्होंने कहा कि कांगे्रस अगर अटल खाधान्न योजना व छत्तीसगढ़ सरकार की योजना का अध्ययन भी कर लेती तो यह बेहत्तर योजना हो सकती थी। भाजपा सरकार ने बी0पी0एल0 एवं ए0पी0एल0 के लिए अटल खाधान्न योजना प्रारम्भ की कांग्रेस सरकार ने इसकी नकल की और नकल भी ठीक से नहीं कर पार्इ। इस योजना से शहरो के 52 प्रतिशत तथा गांव के 62 से 65 प्रतिशत लोग ही लाभानिवत हो रहे है, जबकि अटल खाधान्न योजना से शत्-प्रतिशत लोग लाभानिवत हो रहे थे। उन्होंने कहा कि आपदा को लेकर सरकार पहले दिन से सवालों के घेरे में है। पुनर्वास की छोडे केदारनाथ से शवों को भी उठाने की कोर्इ व्यवस्था नहीं हो पार्इ है। सरकार के पास आज तक भी लापता एवं मृत लोगों के स्पष्ट आंकड़े उपलब्ध नहीं हैं। 23 अगस्त, के आंकड़ों के अनुसार कुल 4894 यात्रियों को लापता हैं, जबकि वास्तविकता इसके ठीक उलट है। इस सरकार ने शवों के अंतिम संस्कार का भी ठेका दिया गया है वह भी एक ब्लैक लिस्टेड कंपनी को। सरकार बताये कि इस कंपनी पर इतनी —पा क्यों । पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तराखण्ड की धार्मिक यात्राएं बाधित हैं। इन्हें सुचारू करने में सरकार 1 इंच भी नही बढ़ी है। बæीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री यमुनोत्री, हेमकुण्ड साहिब , मानसरोवर , नन्दा देवी राज जात यात्रा नहीं हो पायी। इससे प्रदेश की सांस्—तिक, सामाजिक आस्था को भारी ठेस लगी है। आपदा की जानकारी भी प्रदेश सरकार को इसकी जानकारी बहुत देर से प्राप्त हुर्इ- केदारनाथ का जल प्रलय सीमा पर चीन की गतिविधि आतंकवादी टुन्डा की उत्तराखण्ड सीमा से गिरफ्तारी सरकार आपदा और आपदा के पश्चात किये गये राहत कायोर्ं पर जल्द से जल्द श्वेत पत्र जारी करे, साथ में यह भी बताये कि किस मंत्री की डîूटी कहां थी और उन्होंने वहां कितने दिन कैम्प किया और सरकार को क्या फीड़ बैक दिया। पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि जिन लोगों का घर तथा पूरी सम्पत्ति आपदा में पूरी तरह बह गयी या नष्ट हो गयी उन लोगों के बच्चे यदि देहरादून में उच्च शिक्षा ले रहे हैं, पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि आपदा के कारण मोटर सडकों एवं पैदल रास्तों से पूरी तरह कट चुके 300 से अधिक गांवों तक अभी तक राहत सामग्री नहीं पहुंचार्इ जा सकी है। सरकार अभी तक देश को यह संदेश देने में पूरी तरह विफल रही है कि आपदा प्रदेश की केवल कुछ हिस्सों में आयी है, बाकी का पर्यटन एवं धार्मिक क्षेत्र पूरी तरह सुरक्षित है। सरकार की इस विफलता के कारण सिर्फ इस वर्ष नहीं बलिक आगामी कर्इ वषोर्ं तक प्रदेश को पर्यटन से होने वाली आय से वंचित होना पड़ेगा। इस सरकार को बर्खास्त किया जाना चाहिए व जल्द से जल्द राष्ट्रपति शासन लगाया जाना चाहिए।

 

About -

Leave a comment

XHTML: You can use these tags: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <strike> <strong>


Powered By Indic IME

Hit Counter provided by orange county property management