Colors
 
परमार्थ निकेतन ऋषिकेश में किया गया निःशुल्क चिकित्सा शिविर एवं स्वच्छता जागरूकता अभियान का आयोजन
By Gaurav Kashyap On 9 Mar, 2018 At 12:16 PM | Categorized As Uttarakhand | With 0 Comments
IMG-20180309-WA0025
ऋषिकेश 9 मार्च। मायाकुण्ड, ऋषिकेश में आज विटामिन ’ए’ और कृमिनाशक दवाई की खुराक, निःशुल्क चिकित्सा शिविर एवं स्वच्छता जागरूकता अभियान का आयोजन सेवा चाइल्ड, परमार्थ निकेतन, डिवाइन शक्ति फाउण्डेशन, ग्लोबल इण्टरफेथ वाश एलायंस (जीवा), ग्रामीण विकास संस्थान (आर डी आई)  एवं हिमज्योति के संयुक्त तत्वाधान में किया गया। हिमालयन हाॅस्पिटल एवं परमार्थ निकेतन के चिकित्सकों ने स्वास्थ्य परिक्षण किया तथा पांच वर्ष से कम उम्र के बच्चों को विटामिन ’ए’ की खुराक एवं कृमिनाशक औषधि अल्बेनडाजोल पिलायी गयी। इस अवसर पर परमार्थ निकेतन द्वारा विशाल भण्डारे का आयोजन किया गया।
पूज्य स्वामी चिदानन्द सरस्वती जी महाराज, साध्वी भगवती सरस्वती जी, उत्तराखण्ड विधान सभा अध्यक्ष एवं क्षेत्रीय विधायक श्री प्रेमचन्द्र अग्रवाल जी, समाज सेवी श्री विनोद बागड़ोदि़या जी, श्रीमती बागड़ोदि़या जी एवं गणमान्य अतिथियों ने दीप प्रज्वलित कर शिविर का उद्घाटन किया। इस चिकित्सा शिविर मंे मायाकुण्ड क्षेत्र के बच्चों के अलावा कई अन्य आंगनवाड़ियों के बच्चों को भी दवाई पिलायी गयी एवं उनका स्वास्थ्य परिक्षण किया गया।
बताते चले कि विटामिन ’ए’ शरीर के सभी अंगों को सुचारू रूप से चलाने में मदद करता है। यह अच्छी सेहत के लिये जरूरी है। विटामिन ए आंखों की रोशनी को तेज करता है; इसके द्वारा बच्चों का विकास सुचारू रूप से होता है एवं हडिडयों, दांतांे एवं उत्तकों के रख-रखाव मंेे सहायक है। अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर मान्यता प्राप्त दिशानिर्देशों के अनुसार 6-11 महीने के प्रत्येक बच्चों को प्रतिवर्ष 100,000 आईयू विटामिन ए की दो खुराक की आवश्यकता होती है तथा अल्बेनडाजोल कृमिनाशक दवाई की भी 12 से 59 महीने की आयु के प्रत्येक बच्चों को सालाना दो खुराक की जरूरत होती है।
IMG-20180309-WA0027
विटामिन ’ए’ की कमी के कारण शरीर पर अनेक विपरीत प्रभाव पड़ते हंै यथा अन्धेरे में कम दिखाई देेेना, आंखोेे में आंसू की कमी से आंखांे पर सूजन आना। इसकी कमी से बच्चों का विकास असामान्य गति से होता है तथा कद भी छोटा रह जाता है।
इस कार्यक्रम में जीवा संगठन के स्वच्छता विशेषज्ञों ने बच्चों एवं माताओं को स्वच्छता एवं पर्यावरण संरक्षण विषयों की जानकारी दी। स्वच्छता के प्रति जागरूक करने के लिये चित्रकला एवं प्रश्नोत्तरी का आयोजन किया गया, जिसमंे सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाले बच्चों एवं माताओं को पुरस्कृत भी किया गया। साथ ही स्वच्छता किट वितरित किये गये। जीवा के विशेषज्ञों ने स्वस्थ और शान्तिपूर्ण समाज के निर्माण के लिये, सुरक्षित जल, स्वच्छता और स्वच्छता के महत्व को व्याख्यान, लघु फिल्म (शार्ट फिल्म) एवं पपेट शो के माध्यम से समझाया।

About -

Leave a comment

XHTML: You can use these tags: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <strike> <strong>


Powered By Indic IME

Hit Counter provided by orange county property management