Colors
 
विजय बहुगुणा ने हरिद्वार में गंगातट पर उत्तराखंड के पुनर्निर्माण का •ाागीरथी संकल्प लिया
By admin On 16 Jul, 2013 At 11:17 AM | Categorized As Congress, Haridwar, Religion, Uttarakhand | With 0 Comments

हरिद्वार 16 जुलाई। उत्तराखंड के मुख्यमंत्री विजय बहुगुणा ने हरकी पैडी पर गंगा के पावन तट पर उत्तराखंड के पुनर्निर्माण का संकल्प लिया। गंगा पूजन कर विजय बहुगुणा ने 16 जून को केदारनाथ हादसे में मारे गए लोगों को •ाावपूर्ण श्रद्धांजलि अर्पित की। साथ ही बहुगुणा ने •ाावुक होते हुए संकल्प लिया कि वे उत्तराखंड के बेहतर विकास और पुनर्निर्माण के लिए बिना किसी स्वार्थ के •ाागीरथी प्रयास करेंगे। उन्होंने कहा कि पूरी उत्तराखंड सरकार और उत्तराखंड की जनता इस त्रासदी में अपनों को खोने वाले लोगोें के साथ खडी है। मुख्यमंत्री ने कहा कि इस त्रासदी में जिन्होंने अपनों को खोया है उनके परिजन किसी •ाी वक्त उनके पास आकर किसी •ाी तरह की मदद ले सकते है। उनके दरवाजे हमेशा आपदा पीडितों के लिए खुले है।

मुख्यमंत्री विजय बहुगुणा ने कहा कि उत्तराखंड का पुनर्निर्माण और विकास अब ज्योलॉजिकल सर्वे कराकर वैज्ञानिक ढंग से किया जाएगा। इसके लिए देश विदेश के उच्च कोटि के •ाू-वैज्ञानिकों से सम्पर्क स्थापित किया जा रहा है। उन्होंने पर्यावरण की कीमत पर हम राज्य का विकास कतई नहीं करेंगे। राज्य का बेहतर विकास पर्यावरण से तालमेल करके ही किया जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य के विकास के लिए धन की कमी को आडे नही आने दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार का इस आपदा के दौरान राज्य सरकार को बहुत सहयोग मिला है। जिसके लिए उन्होंने सोनिया गांधी और प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह का आ•ाार जताया। उन्होंने कहा कि •ाारतीय सेना और केंद्रीय सुरक्षा बलों और राष्टÑीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण ने आपदा के समय जो सहयोग दिया उसे •ाुलाया नही जा सकता। बहुगुणा ने कहा कि केंद्रीय वित्तमंत्री पी.चिदंबरम ने स•ाी जीवन बीमा से जुडी स•ाी कम्पनियों को निर्देश दे दिए है कि वे बिना एफीडेविड के मृतकों के आश्रितों को जीवन बीमा का पैसा नियमों में शिथिलता बरतते हुए दे दें।

मुख्यमंत्री बहुगुणा ने कहा कि केदारनाथ में एनडीआरएफ और स्थानीय प्रशासन की साठ सदस्यी टीम मंदिर की सफाई में लगी है। और जल्दी ही मंदिर की सफाई कर वेदिक विधि विधान से मंदिर में पूजा अर्चना शुरू कर दी जाएगी। उन्होंने कहा कि उत्तराखंड व देश के लोगों को जो क्षति पहुंची है, उसके राहत, पुर्नवास व पुनर्निर्माण के लिए युद्ध स्तर पर प्रयास किया जा रहा है मुख्यमंत्री ने कहा कि गंगोत्री, यमनोत्री, बद्रीनाथ की यात्रा 30 सितम्बर तक प्रारम्•ा कर दी जाएगी। उन्होंने कहा कि हम ऐसी व्यवस्था वैज्ञानिक रूप से बनाने जा रहे है कि पर्यावरण विकास पर तालमेल बना रहे। उन्होंने कहा कि इस प्राकृतिक आपदा से उत्तराखंड में काफी क्षति हुई है अब उत्तराखंड को नये सिरे से पुर्नस्थापित, व्यवस्थित एवं विकसित करने के प्रयास स•ाी के सहयोग से किये जाएंगे ताकि आने वाले श्रद्धालुओं को किसी •ाी प्रकार की समस्या का सामना न करना पडे।

श्रद्धांजलि कार्यक्रम में विष्णु सहस्त्र नाम का पाठ, शांति पाठ, यज्ञ, तर्पण, पूर्ण आहुति दी गयी। कार्यक्रम स्थल पर दो मिनट का मौन रखकर मृतकों की आत्मा की शांति के लिए ईश्वर से प्रार्थना की गई। इस अवसर पर बद्री-केदार समिति के अध्यक्ष गणेश गौदियाल, केंद्रीय मंत्री हरीश रावत, पर्यटन मंत्री अमृता रावत, सांसद सतपाल महाराज, डिप्टी स्पीकर विधान स•ाा अनुसूया मैखुरी, मंदिर समिति के उपाध्यक्ष मधु •ाट्ट, मुख्य कार्याकारी अधिकारी वी. डी. सिंह, धर्माधिकारी •ाुवन चन्द्र उनियाल, गंगा स•ाा के अध्यक्ष वीरेन्द्र सिंह कुंज व रीता बहुगुणा जोशी के अलावा जिलाधिकारी डॉ. निधि पांडेय के अलावा अन्य प्रशासनिक अधिकारी, गणमान्य लोग व साधु सन्त समाज के लोग बडी संख्या में मौजूद थे।

About -

Leave a comment

XHTML: You can use these tags: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <strike> <strong>


Powered By Indic IME

Hit Counter provided by orange county property management