Colors
 
बीएचईएल के पूर्व महाप्रबंधक राजेश भट्ट पंचतत्व में विलीन रंगमंच के लोकप्रिय कलाकार थे राजेश भट्ट
By Gaurav Kashyap On 24 Aug, 2018 At 04:48 AM | Categorized As Haridwar, Uttarakhand | With 0 Comments

510120

  • गौरव कश्यप

हरिद्वार 23 अगस्त। भारत हैवी इलैक्ट्रिकल्स लिमिटेड (बीएचईएल) के पूर्व महाप्रबंधक तथा इंजीनियरिंग कॉलेज कोर के पूर्व रजिस्ट्रार राजेश भट्ट गुरुवार को पंचतत्व में विलीन हो गए। कनखल स्थित श्मशान घाट में उनका अंतिम संस्कार किया गया। उनके बेटे अंकुर भट्ट ने उनकी चिता का मुखाग्नि दी। नम आंखों से लोगों ने भट्ट को अंतिम विदायी दी। उनकी अंतिम यात्रा देहरादून के राजपुर रोड स्थित उनके आवास से गुरुवार की सुबह साढे दस बजे रवाना हुई और करीब दोपहर एक बजे कनखल स्थित श्मशान घाट पहुंची। इस अवसर पर बडी तादाद में बीएचईएल के अधिकारी, कर्मचारी, कई पत्रकार, कला प्रेमी और समाजसेवी उपस्थित थे।
गंगासभा हरिद्वार के महामंत्री रामकुमार मिश्रा, बीएचईएल के पूर्व निदेशक एम.के. मित्तल, पूर्व कार्यपालक निदेशक राजीव मेहरा, महाप्रबंधक बी.के. रायजादा, राजीव शर्मा, अशोक गुप्ता, अतुल शुक्ला, पूर्व महाप्रबंधक राजीव भटनागर, खालिद जहीर, अपर महाप्रबंधक जनसंपर्क एवं संचार राकेश माणिकताला, अजीत अग्रवाल, चंद्र प्रकाश झींगरन, डॉ नरेश मोहन, पूर्व आईएएस अधिकारी सुन्दर लाल मुयाल, राजभाषा विभाग के प्रभारी विनीत वशिष्ठ प्रेस क्लब के महामंत्री ललितेन्द्र नाथ जोशी, एनयूजे के प्रदेश अध्यक्ष बृजेन्द्र हर्ष, वरिष्ठ पत्रकार गोपाल रावत, रजनीकांत शुक्ला, सुनील दत्त पांडेय समेत गणमान्य नागरिकों ने भट्ट को श्रद्धांजलि अर्पित की। प्रेस क्लब हरिद्वार की ओर से राजेश भट्ट के शव पर शॉल और माला चढाकर उन्हें नम आंखों से अंतिम विदायी दी गई। भट्ट प्रेस क्लब हरिद्वार के मानद सदस्य रहे हैं।
67 वर्षीय भट्ट का बुधवार को दिल्ली के निजी अस्पताल में निधन हो गया था। रंगमंचकर्मी और भेल के पूर्व वरिष्ठ प्रबंधक चंद्र प्रकाश झींगरन ने बताया कि राजेश भट्ट रंगमंच के बडे कलाकार भी थे। उन्होंने बीएचईएल के विभिन्न संस्थानों में आयोजित नाटकों में प्रभावशाली अभिनय किया। वे नाट्य संस्था कला संगम से भी 1973 से जुडे रहे। वैसे उन्होंने 1971 से ही अपनी नाट्य कला का प्रभावशाली मंचन शुरू कर दिया था और वे नाट्य कला हबीब नाईट के लोकप्रिय कलाकार थे। झींगरन ने बताया कि वे गंभीर तथा हास्य दोनों प्रकार की भूमिका रंगमंच पर बडे प्रभावशाली तरीके से प्रस्तुत करते थे। मिलनसार और हरफनमौला भट्ट हर वर्ग में लोकप्रिय थे।

About -

Leave a comment

XHTML: You can use these tags: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <strike> <strong>


Powered By Indic IME

Hit Counter provided by orange county property management