Colors
 
मनुष्य को अपना आचरण शुद्ध रखना चाहिए—प्रखर महाराज
By Gaurav Kashyap On 27 Jul, 2018 At 03:37 PM | Categorized As Haridwar, Uttarakhand | With 0 Comments

0001111

  • गौरव कश्यप

हरिद्वार 27 जुलाई। यज्ञ विशेषज्ञ महात्मा के रूप में ख्याति प्राप्त महामंडलेश्वर स्वामी प्रखर महाराज का चातुर्मास व्रत आज गुरूपूर्णिमा पर्व के साथ शुरू हुआ।उनके आश्रम श्री विश्वनाथ धाम आश्रम में आज गुरु पूर्णिमा पर्व धूम धाम से मनाया गया। इस अवसर पर उनके शिष्य देश के विभिन्न राज्यों से गुरु पूजन के लिए पधारे। हजारों की संख्या में पधारे उनके शिष्यों ने प्रात: नौ बजे गुरू पूजन शुरू किया और वह कार्यक्रम दोपहर एक बजे तक अनवरत चलता रहा। इस अवसर पर महाराज श्री के शिष्यों ने बड़ी श्रद्धा और निष्ठा से अपने गुरू की पूजा की।
गुरू पूजन के पश्चात स्वामी प्रखर महाराज ने अपने शिष्यों भक्तों को सम्बोधित करते हुए गुरू पूर्णिमा पर्व का महत्व समझाया। उन्होंने कहा कि मनुष्य को अपने कर्म के प्रति सावधान रहकर ही नित्य प्रति अपना आचरण शुद्ध रखना चाहिए। उन्होंने कहा कि सक्षम लोगों को अपने घर में ठाकुर जी और अपने गुरू का स्थान अवश्य बनाना चाहिए। उन्होंने जीवन में गुरू होने न होने का मतलब समझाया।
चंद्र ग्रहण होने से सूतक लगने की वजह से गुरू पूर्णिमा पर्व का कार्यक्रम एक बजे तक सम्पन्न हो गया। तत्पश्चात सभी भक्तों ने अपने गुरू से आशीर्वाद लेकर विदा ली। आज से महाराज श्री का चातुर्मास शुरू हुआ, कल से आश्रम में धार्मिक और आध्यात्मिक कार्यक्रमों की शुरूआत होगी, जो चातुर्मासोपरांत जारी रहेगी।

About -

Leave a comment

XHTML: You can use these tags: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <strike> <strong>


Powered By Indic IME

Hit Counter provided by orange county property management