Colors
 
डॉ राधिका नागरथ की कलम से—सफरनामा
By Gaurav Kashyap On 9 Apr, 2018 At 03:06 AM | Categorized As Spiritualism, Travels | With 0 Comments

It’s a God’s Act : We can’t help it

 IMG_0681
भारत को वापसी टौरांटो से क्यों नहीं, मौंट्रीयल से क्यों, जब सब रिश्तेदारी टौरांटो में है। अपनी टिकट बदल लो ऐसा सभी का सुझाव आया। हम तो भारतीय हैं- उन्हें कौन समझाए, पैसा लिमिटेड होता। 150 डालर फालतु में देना अपने बस में नहीं यह कारण तो हम भौतिक सोच वालों के पुष्टि का है परंतु उस त्रिकालदर्शी खुदा की दृष्टि तो आगे आने वाले संकट का पहले से ही पता था।
19 अक्टूबर को मेरी फ्लाइट मौंट्रीयल से थी और 18 अक्टूबर तक सैंडी हरीकेन तूफान न्यूयार्क मे तबाही मचा अब मौंट्रीयल में दस्तक देने ही वाला था। एयरपेार्ट पर “रिटारडे“ यानि लेट और “एनल्ड“ यानि कैंसल यह सब ज़्यादातर फ्लाइटस के डिस्पले बोर्ड पर आ रहा था। या तो उड़ाने स्थगित की जा रही थीं या फिर देरी से। वहाँ के रिसैपशन आफिसर  ने एक अखबार दिखाते हुए उस समुद्री तूफान का नक्शा मेरे सामने रखा और कहा- आप किस्मत वाली हैं। हरीकेन कल मौंट्रियल पहुँचेगा और आप आज रवाना हो जाएंगी।
IMG_0682
मोंट्रियल का रिसैप्शन आफिसर समुद्री तूफान सैंडी हरिकेन के आने पर टैलीफोेन से सूचना बांटने में व्यस्त, फ्लाईट लेट और कैंसल होने पर परेशानपैसंजर्स
वह इतना मशगुल था आगंतुको को एक एक कर बताने में और स्थानीय होटलों का पता देने में कि मैंने बात को छोटा करते हुए पूछा, अगर फ्लाइट कैंसल होती है तो क्या एयरलाईन पैसंजर्स को ठहराने में मदद नहीं करती। उसका एक ही लाईन का उत्तर था,“मैडम इटस गौडस ऐक्ट, वी कांट हैल्प इट“। यानि यह कुदरती बाधाएँ हैं न की तकनीकि, इसलिए पैसेंजर्स को अपना खर्चा खुद ही उठाना पड़ेगा। मैं हत प्रब्ध खुदा का शुक्र कर रही थी कि अगर मेरे साथ ऐसा हो तो मेरे पास 5 डालर भी अतिरिक्त नहीं होते। मैं अजनबी देश में क्या करती ऐसी हालत में सब अपने देश से बाहर जाकर हम पूर्णतः भगवान पर आश्रित होते है। और वो अपने आश्रितों को गोदी में ले गंतव्य तक पहुँचाता है।
When completely surrendered to God, he takes care, and we move carefree without making Plan B
IMG_0689 IMG_0691
समुद्री तूफान सैंडी हरीकेन के मैांट्रियाल पहुंचने की खबर फ़्रांसीसी अखबार में जो रिसैपशन आफिसर सब पैसंजर्स को दिखा रहा था

About -

Leave a comment

XHTML: You can use these tags: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <strike> <strong>


Powered By Indic IME

Hit Counter provided by orange county property management