Colors
 
राधिका नागरथ की कलम से -सफरनामा
By Gaurav Kashyap On 24 Jul, 2018 At 04:29 AM | Categorized As Religion, Travels | With 0 Comments

IMG_0454

 

वेदांता सैंटर के हैड स्वामी दयात्मानंद के साथ

वेदान्ता सैंटर में स्वामीजी का सन्निघ्यः-

 

कैसे ठाकुर राम कृश्ण परमहंस अपने समय में भक्तों से वार्तालाप करते होंगे। डेढ़ घंटा कार के सफर के बाद मै और  सर्बजीत बोरन एैंड विलेज पहुँचे। कार में गंतव्य स्थल का पता फीड कर दिया था। हर मोड़ पर स्पीकर बताई जा रही थी अब कौन सा एग्ज़िट आएगा, कहाँ मुड़ना है। जैसे ही पहुँचे उस सुंदर से भवन में, ठाकुर की समाधि वाली मुद्रा वाला फोटो। मेरे आंखों से अश्रुधारा बह निकली। एक ब्रहृमचारी आए जिन्हें हमने अपना नाम बताया और फिर मंदिर में प्रणाम करने गए। कितना सुकून था, जैसे अपने घर आ गई मैं और यह सुकून और भी उल्लास में बदल गया जब स्वामीजी ने मुझसे पूछा कितने दिन रूकोगी। मैंने कहा आज तो वापिस जाऊँगी लेकिन 16 को फिर आकर रहना चाहूँगी, वापिसी फ्लाइट पकड़ने के लिए। बहुत खूब.  17 को सरबजीत को आफिस जाना था आॅडिट  मीट में । मैं अनिश्चित ही लंडन पहुँची थी कि 16 और 17 कहाँ गुजारना है और स्वामीजी ने पूरी जिम्मेदारी ली कि वे टैक्सी बुला देंगंे वापिसी या़त्रा के लिए एयरपोर्ट तक।

 

स्वामीजी ज्ञान बांटते जा रहे थे और मैं पेपर पैन न पास में होने का गम कर रही थी। एक-2 शब्द अमूल्य था। विट्टी हयूमर से भरे हुए जोक पर जोक कह रहे थे ताकि इंटरस्ट बना रहे। सरबजीत के जैसे सारे प्रश्नों का उत्तर मिल गया था। उसे आनंदित देख मेरा मन फूला नहीं समा रहा था। वहाँ से फ्री बुक्स ले हम घर लौट आए। आशीर्वाद मिल गया था अब कान्फ्रैंस की कोई चिंता नहीं थी। अगले दिन कोवैंट्री से आक्सफर्ड के लिए ट्रेन ले ली। सर्बजीत के कारन ही मैं इस सेंटर तक पहुँच पाई थी. प्रभु उसे सदा खुश रखे

IMG_0448 IMG_0450  IMG_0457

ग्रेट ब्रिटेन का एक मात्र रामकृष्ण वेदान्ता सैंटर जो रामकृष्ण आर्डर से जुडा़ है।

1948 में यह सैंटर बकिंघमशायर में लंदन से स्थानांत्रित हुआ।

DSC_0002

About -

Leave a comment

XHTML: You can use these tags: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <strike> <strong>


Powered By Indic IME

Hit Counter provided by orange county property management