Colors
 
जानिए मुस्लिम समुदाय के किस धर्मगुरू ने की अयोध्या में राम मंदिर बनाने की मांग
By Gaurav Kashyap On 25 Jul, 2018 At 02:02 PM | Categorized As Haridwar, Uttarakhand | With 0 Comments

30103201

  • गौरव कश्यप

हरिद्वार 25 जुलाई। शिया धर्मगुरू कोकब मुजतबा ने मांग की है कि अयोध्या में भव्य राम मंदिर बनाया जाए। क्योंकि भगवान राम की जन्म ​स्थली अयोध्या है। अयोध्या में बाबर के सेनापति द्वारा राम ​मंदिर को तोडकर बनाई गई बाबरी मस्जिद इस्लाम धर्म के खिलाफ है। शिया धर्मगुरू आज भारत माता मंदिर समन्वय कुटीर में पत्रकारों से बात कर रहे थे। वे गुरू पूर्णिमा महोत्सव में भाग लेने के लिए भारत माता मंदिर हरिद्वार आए थे।

11100010100
विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद्र अग्रवाल तथा कैबिनेट मंत्री मदन कौशिक ने भारत माता मंदिर जनहित ट्रस्ट की ओर से आयोजित गुरू पूर्णिमा सम्मान समारोह में प्रतिभाग किया। मौसम की खराबी के कारण मुख्यमंत्री की हवाई मार्ग यात्रा स्थगित होने पर वह कार्यक्रम में नहीं पहुंच सके। प्रदेश सरकार के शासकीय प्रवक्ता कैबिनेट मंत्री मदन कौशिक ने कार्यक्रम में मुख्यमंत्री के प्रतिनिधि के रूप में कार्यक्रम को सम्बोधित किया तथा उनका संदेश भी दिया।
भारत माता जनहित ट्रस्ट की ओर से गुरू पूर्णिमा पर्व की शुरूआत की गयी, जिसमे ट्रस्ट की ओर से सुदूर मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, झारखण्ड राज्यों के पिछड़े अंचल के आदिवासी महिला एंव पुरूषों को उत्तरखण्ड राज्य में बुलाकर ट्रस्ट की ओर से सम्मानित किया गया।
इस अवसर पर मदन कौशिक ने ट्रस्ट की इस मुहिम को अखण्ड भारत, एक भारत के संकल्प का उदाहरण बताया। उन्होंने इन महिलाओं और पुरूषों के लिए माननीय मुख्यमंत्री की ओर से दिया गया संदेश सभी को दिया। कौशिक ने कहा कि आज जब हर कोई अपने और अपने परिवार के लिए भौतिक सुख, सुविधाओं के लिए दौड-़भाग रहा है वहीं हमारे ही देश के अभिन्न अंग आदिवासी समुदाय के लोग निस्वार्थ भाव से अपना जीवन यापन कर रहे हैं। जहां सामान्यतः लोग वनों को छिन्न-भिन्न कर जमीन, मकान बढ़ाने की होड़ में हैं वहीं हमारे आदिवासी समाज के बंधु वनों को ही अपनी सम्पत्ति मानकर न केवल पेड़ो की अपितु प्रकृति और समाज की रक्षा कर रहे हैं। स्वामी जी का ध्यान आदिवासी वर्ग की ओर जाने का आशय है कि सनातन धर्म में कोई जाति, वर्ग, समुदाय नहीं सब ईश्वर की संतान हैं।
विधान सभा अध्यक्ष प्रेमचंद्र अग्रवाल ने कहा कि कहा कि सनातन धर्म और भारत की पहचान श्रीराम और शबरी से है। श्रीराम का समरसता का भाव ही स्वामी सत्यमित्रानन्द गिरि जी के इस श्रेष्ठ कार्य का प्रेरणा स्त्रोत रहा है। उन्होंने वनों में वास कर पर्यावरण और प्रकृति की रक्षा में अपना जीवन व्यतीत करने वाले आदिवासी समाज को सच्चा देशभक्त बताया। यही वो लोग हैं जो भौतिक सुख सुविधाओं की इच्छा के बिना देश को प्रेम करते हैं
स्वामी सत्यमित्रानन्द गिरि, जूना पीठाधिश्वर स्वामी अवधेशानन्द ने सभी आदिवासी महिलाओं को वस्त्र उपहार प्रदान किये। इस अवसर पर गायत्री परिवार के प्रमुख डाॅ प्रणव पण्ड्या, शिया धर्मगुरू कोकब मुजतबा, भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अविनाश खन्ना सहित अनेक गणमान्य लोग उपस्थित रहे।

About -

Leave a comment

XHTML: You can use these tags: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <strike> <strong>


Powered By Indic IME

Hit Counter provided by orange county property management